अनादिकाल काल से चले आ रहे सनातन धर्म की जय हो

Saturday, 6 July 2013

76 रुपावत राठोड़ 77 करनोत राठोड़ ७८ मांडनोत राठोड़ 79 नाथोत राठोड़ ,सांडावत ,बेरावत,अडवाल ,खेतसिहोत लखावत और डुंगरोत राठोड़

रुपावत राठोड़ :- राव रिड़मल के पुत्र रूपा ने बीका का उस समय साथ दिया जब वे जांगल देश पर अधिकार कर रहे थे | इन्ही रूपा के वंशज रुपावत राठोड़ हुए | मारवाड़ में इनकी चाखु ऐक ताजीमी ठिकाना था | दूसरा ताजीमी ठिकाना भादला (बीकानेर ) राज्य में था | इनके अतिरिक्त ऊदट (फलोदी )कलवाणी (नगौर) भेड़(फलोदी )मूंजासर (फलोदी )मारवाड़ में तथा सोभानो ,उदासर आदी बीकानेर राज्य के छोटे छोटे ठिकाने थे |

77.करणोंट राठोड़ :-राव रिड़मल के पुत्र करण के वंशज है | इसी वंश में वीर दुर्गादास (आसकरनोत)हुए | जिन पर आज भी सारा  राजस्थान गर्व करता है | अनेकों कष्ट सहकर इन्होने मात्रभूमि की इज्जत रखी | अपनी स्वामिभक्ति के लिए इतिहास में प्रसिद्द रहे है | उन्होंने निकट परिस्थतियों के लिए स्वामी जसवंतसिंह के पुत्र अजीतसिंह को ओरंगजेब के कुचक्र से रक्षा की और अनेक कष्ट झेलते हुए अजीतसिंह का पालन पोषण कर जोधपुर की गद्धी पर बैठाया | वे अपनी मात्रभूमि की स्वतन्त्र और स्वामिभक्ति के लिए आज भी याद किये जाते है | मारवाड़ में बाघावास करणोंत राठोड़ों का ताजीमी का 14 गाँवो का ठिकाना था तथा कितनोद २ गाँव व् समदड़ी (चार गाँव ) ताजीम के ठिकाने थे | इनके आलावा झंवर ,भाखरी सुरपुरा आदी सात ताज्मी ठिकाने और 40 गाँवो की जागीरी थी |

78.मांडनोत राठोड़ :- राव रिड़मल के पुत्र मांडण के वंशज मांडनोत राठोड़ कहलाते है | मारवाड़ में अलाय इनका ताजीमी ठिकाना था | इनके अतिरिक्त गठीलासर ,गडरियो ,गोरंनटो,रोहिणी ,हिंगवाणीया आदी इनके छोटे छोटे ठिकाने थे |

79.नाथोत राठोड़ :- नाथा राव रिड़मल के पुत्र थे | राव चूंडा नागोर के युद्ध में भाटी केलण के हाथों मारे गए | नाथाजी ने अपने दादा का बेर केलण के पुत्र अक्का को मार कर लिया | इन्ही नाथा के वंशज नाथोत राठोड़ कहलाते है | पहले चीनी इनका ठिकाना था | नाथूसर गाँव इनकी जागीरी में था |
80.सांडावत राठोड़ :-राव रिड़मल के पुत्र सांडा के वंशज |
81.बेरावत राठोड़ :-राव रिड़मल के पुत्र बेरा के वंशज | दूधवड़ इनका गाँव था |
82.अडवाल राठोड़ :-राव रिड़मल के पुत्र अडवाल के वंशज | ये मेड़ता के गाँव आछोजाई में रहे |
83.खेतसिहोत राठोड़ :-राव रिड़मल के पुत्र जगमाल के पुत्र खेतसी के वंशज | इनको नेतड़ा गाँव मिला |
84.लखावत राठोड़ :- राव रिड़मल के पुत्र लखा के वंशज |
85.डुंगरोत राठोड़ :-राव रिड़मल के पुत्र डूंगरसी के पुत्र को भाद्रजूण मिला था |

86.भोजाराजोत राठोड़ :-राव रिड़मल के पोत्र भोजराज जेतमालोत के वंशज | इन्हें पालसणी गाँव मिला था | (राव रिड़मल के पुत्र हापा ,सगता ,गोयंद ,सांवर ,करमचंद और उदा के वंशजों की जानकारी उदा के वंशज बीकानेर के उदासर आदी गाँव में सुने जाते है |

No comments:

Post a Comment